UG और PG में क्या अंतर है | UG And PG Meaning In Hindi

आज की इस Hindiacademy.in आर्टिकल में मैं आपको बताऊंगा की UG का अर्थ क्या होता है (UG Meaning in Hindi) और PG का अर्थ क्या होता है (PG Meaning in Hindi) UG or PG Me kya antar hai हर चीज बताऊंगा की Graduate or Post Graduate क्या होता है तो इसी के बारे में डिटेल्स में जानकारी देंगे इसलिए ये आर्टिकल लास्ट पड़ते रहना।

UG / PG में क्या अंतर हैं Under Graduate शिक्षा माध्यमिक शिक्षा के बाद और Post Graduate शिक्षा से पहले आयोजित की जाने वाली शिक्षा है। कुछ अन्य शैक्षिक प्रणालियों में, Under Graduate शिक्षा एक Master Degree के स्तर तक की शिक्षा के बाद है यह ब्रिटेन में कुछ विज्ञान पाठ्यक्रमों और यूरोप में कुछ चिकित्सा पाठ्यक्रमों के लिए मामला है।

ug and pg me kya antar hai

इसमें आमतौर पर Under Graduate की Degree के स्तर तक के सभी Post secondry Programs शामिल होते हैं। उदाहरण के लिए, संयुक्त राज्य अमेरिका में, एक प्रवेश स्तर के विश्वविद्यालय के छात्र को Under Graduate के रूप में जाना जाता है, जबकि उच्च Degree वाले छात्रों को Post Graduate छात्रों के रूप में जाना जाता है

वैसे तो हमारी पढ़ाई-लिखाई का सिलसिला हमारी पैदाइश के साथ शुरू हो जाता है और हमारी अंतिम सांस तक चलता रहता है. Kindengarden से लेकर Doctrate तक, लेकिन  पढ़ाई की विशेषता और खासियत जानने वाले इस बात को भी अच्छी तरह जानते हैं कि Graduation करते-करते किसी UG / PG कोर्स में दाखिले के बड़े फायदे हैं.

ये भी पढ़े: UGC NET परीक्षा क्या है

UG का अर्थ क्या होता है (UG Meaning in Hindi)

हम इस दुविधा में होते हैं कि क्या करें? आगे नौकरी करें या फिर पढ़ाई को ही जारी रखें? ऐसे में किसी भी बहुप्रतीष्ठित व सरकारी मान्यता प्राप्त संस्थान से UG / PG करना आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है  जब आप अपनी College life के दौरान अपनी बैचलर डिग्री जैसे –  B.com / BBA / B.A / BSC / BCA / B.Tech/ BE/ BESc/ BSE/ BASc/ B.Tech आदि| को पूरा कर लेते है।

तो आप ग्रेजुएट (Graduate) यानी स्नातक बन जाते है. लेकिन जब आप बैचलर डिग्री की पढाई करते ही रहते हो तो समय आप UG यानी की Under Graduation कहलाते हो।

UG = Under Graduation

UG = स्नातक के तहत

PG का अर्थ क्या होता है (PG Meaning in Hindi)

जब आप अपनी Graduation यानी स्नातक डिग्री प्राप्त कर लेते है तो उसके बाद जब आप उसी Course में Master Degree प्राप्त कर लेते है तो आप Post Graduate माने जाते है जैसे – M.com / MSC / MCA / M.Tech  आदि|

यह उसी Course या Graduation का Advance version होते है जो आपने पहले की है  Graduation पूरी होते ही आप Graduate माने जाते है और Graduation की advance Degree लेने पर आप Post Graduate हो जाते है।

PG = Post Graduation

PG = स्नातकोत्तर

PG एक Master degree होता है

ये भी पढ़े:  सीटेट (CTET) परीक्षा क्या है|

UG क्या है पूरी जानकारी (Under Graduation in Hindi)

UG यह भारत का Undergraduate का एक System है। इसको दो भागों में बांटा गया है पहला Under Graduation (UG) और दूसरा Post graduation (PG) के नाम से जाना जाता है। आजकल ये दो नाम UG & PG बहुत ही प्रचलित है। कोई अगर UG & PG Course करता है तो वह सीधे कहता है की PG or UG कोर्स कर रहे है।

यह एक Under Graduate Course होता है जो भारत में ज्यादातर लोग करते है और भी देशों में इसको इसी नाम से जाना जाता है। College और University लेवल पर Students जिन Undergraduate (UG) और Postgraduate (PG) Courses में Admission लेते हैं, Under Graduate में से अपनी पसंद के विषय में कोई Course पूरा कर लेते है।

इसके बाद Students को Bachelor Degre या Graduation की Degree मिलती है हम उन Courses के बारे में इस Article में जरुरी जानकारी पेश कर रहे हैं ताकि Students अपने Intereset और Talent के मुताबिक इन Courses में Admisssion लेकर अपना Career संवार लें आजकल केवल Graduation और Post-Graduation की डिग्रियां ही Students को बढ़िया Package दिलवा सकती हैं।

किसी भी मान्यताप्राप्त बोर्ड से 12वीं क्लास का Exam पास करने के बाद Offer करते हैं। विभिन्न Undergraduate Courses में से अपनी पसंद के विषय में कोई Course पूरा कर लेने के बाद Students को Bachelor Degree या Graduation की Degree मिलती है।

अब सभी Students को Graduation (UG) / Post Gradation (PG) की Degree हासिल करने के बाद भी कई Competitive Exams, Group Discussions, Personal Interviews और Medical fitness Test पास करने के बाद अपनी पसंदीदा या Suitable जॉब मिलती है।

इस बढ़े हुए ज्ञान और जानकारी के साथ – साथ अपनी संबद्ध Field में बढ़ता हुआ कार्य अनुभव हरेक व्यक्ति को अपने कार्यक्षेत्र में माहिर बना देता है अपनी Graduation की Degree प्राप्त करने के बाद अगर Students अपनी पढ़ाई आगे जारी रखना चाहते हैं

तो वे अपने Graduation के किसी एक पसंदीदा विषय में या फिर, अगर Students ने अपनी Graduation की Degree किसी ‘Owners Subject’ सहित प्राप्त की है, तो उस विषय में 2 वर्ष की अवधि तक अध्ययन करके Post Graduation की Degree प्राप्त कर सकते हैं।

ये भी पढ़े: सरकारी नौकरी कैसे प्राप्त करे

PG क्या है पूरी जानकारी (Post Graduation in Hindi)

खास बात तो यह है कि किसी Subject  में Post Graduation की Degree प्राप्त करने के बाद विभिन्न Government और Private संस्थानों में Candidates को अपने Job Profile में समान काम के लिए Graduate Candidates से कुछ ज्यादा Salery मिलती है।

कुछ कोर्स जाएदा समय के भी हैं जैसे इंजीनियरिंग 4 साल और मेडिकल 5 साल का कोर्स है। 12वीं के बाद डायरेक्ट LLB 5 साल व डायरेक्ट बीएड 4 साल का कोर्स है। हिंदुस्तान के किसी भी University या किसी भी College से Graduat / Postgraduatre किया जा सकता है।

Post Graduate एक शैक्षणिक डिग्री है जिसे अध्ययन के एक विशेष क्षेत्र अथवा पेशेवर अभ्यास के क्षेत्र में अध्ययन करने वाले उन व्यक्तियों को दिया जाता है जिन्होंने उसमें प्रवीणता या उच्च स्तरीय ज्ञान प्रदर्शित किया है ।

ध्यान रखें कि University UGC से Recognized होनी चाहिए | अगर Engineering या Medical कर रहे हैं तो College AICTE से Recognized होना चाहिए | फार्मा PCI से, LLB कोर्स BCI से, BEd कोर्स NCTE से Recognized होना चाहिए | यह जरूर देख लें कि आप जो Course कर रहे हैं उसको जरुरी Recognition है।

UG Course Bachelor Degree

B.PHARMA (Bachelor of  Pharmacy)

B.Com (Bachelor of commerce)

LLB (Bachelor of Law)

B.Sc (Bachelor of Science)

BCA (Bachelor of computer application)

BBA (Bachelor of Business Administration)

B.A (Bachelor of Arts)

B.E/B.TECH (Bachelor of Engineering/Technology)

PG Course Post Graduate

MBA (Master of Business Administration)

M.PHARMA (Master of Pharmacy)

M.E/TECH (Master of Engineering/Technology)

M.Com (Master of Commerce)

MCA (Master of Computer  Application)

M.A (Master of Arts)

M.Sc (Master of Science)

LLB (Master of Law)

ये भी पढ़े: SSC MTS की तैयारी कैसे करे

UG में अंतर 

Ads


 1  UG Undergraduate के लिए है, जो एक बार 12 वीं की पढ़ाई पूरी करने के तुरंत बाद किया जाता है। यह छात्रों को Bachelor Degree जैसे Bcom, BA, BSC आदि प्रदान करने के लिए है, इसे पूरा होने में आमतौर पर 3 साल लगते हैं

 2  UG को Under Graduation या Bachelor Degree भी कहते है

 3  UG किसी भी शिक्षा पद्धति का एक महत्वपूर्ण पड़ाव है, फिर चाहे शिक्षा भारत में मिले या फिर यूरोप में या फिर दुनिया के किसी भी देश में। अगर व्यक्ति को शिक्षित होना है तो चाहे किसी भी क्षेत्र में हो, उसे इस पड़ाव से गुजरना ही पड़ता है।

PG में अंतर

 1  जबकि, Post Graduate के लिए एक संक्षिप्त रूप है, जो केवल Under Graduate की Degree प्राप्त करने के बाद किया जाता है. जिसे Master Degree की पढाई भी कहते है| इसे हिंदी में PostGraduate भी कहते है यह एक उच्च श्रेणी के ज्ञान, व्यावसायिकता, आदि के साथ छात्रों को विकसित करने के लिए है| जैसे M.com, MA, M.sc आदि को पूरा होने में 2 साल लगते हैं।

 2  PG को Post Graduation या Master degree भी कहते है

 3  PG की Full Form (Post Graduate) होती है तथा ये Course Bachelor Course के बाद ही किया जा सकता है भारत में PostGraduate Course को Graduate ही माना जाता हैं परन्तु PostGraduate Course Specialisation के अंतर्गत है.

Conclusion 

इस Article में हमने आपको UG / PG के बारे में बताया। जैसे, UG / PG क्या है इसके बाद करियर के क्या Option है आदि। हम उम्मीद करते हैं, यह Article अंत तक पढ़ने के बाद आपको UG / PG की पूरी जानकारी मिल गयी होगी इससे सम्बंधित अगर आपके मन में किसी भी तरह का कोई भी सवाल हो, तो आप हमें निचे Comment कर जरुर बताएं|

Ads


X