मिशन प्रेरणा क्या है | Mission Prerna In Hindi

मिशन प्रेरणा (Mission Prerna)

उत्तर प्रदेश में बच्चों के बेसिक शिक्षा के स्तर को बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा लगातार प्रयास जारी है, क्योंकि ऐसा माना जाता है जब बच्चों की शुरुआती अर्थात प्राथमिक शिक्षा मजबूत होगी तो आगे चलकर वह अपना भविष्य उज्जवल बना सकते है| इसी दिशा में उत्तर प्रदेश सरकार नें एक अहम् कदम उठाते हुए ‘मिशन प्रेरणा’ कार्यक्रम की शुरुआत की है| इस अति महात्वाकांक्षी योजना मिशन प्रेरणा के अंतर्गत बेसिक शिक्षा की गुणवत्ता में बदलाव करनें का भरसक प्रयास किया जा रहा है। इस नई कार्य योजना के अंतर्गत परिषदीय स्कूलों में विद्यार्थियों को दी जा रही शिक्षा की गुणवत्ता का आकलन प्रेरणा तालिका पर होगा।     



     

मिशन प्रेरणा क्या है (What Is Mission Prerna)

‘मिशन प्रेरणा’ उत्तर प्रदेश सरकार का एक प्रमुख कार्यक्रम है, इस कार्यक्रम के माध्यम से बेसिक शिक्षा विभाग के अंतर्गत 1.6 लाख विद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता बढानें के लिए भरपूर प्रयास करना है| इससे बच्चों में समझ के साथ पढ़ने और बुनियादी गणित की गणना व प्रश्नों को हल करने आदि की क्षमता उत्पन्न होती है, जो उनके भविष्य में अन्य कलाओं एवं विषयों के सीखने का आधार बनती है। इसीलिए सभी छात्रों के अध्ययन के परिणामों में सुधार लाने हेतु मार्च 2022 तक कक्षा 1 से 5 में मूलभूत शिक्षा प्राप्त करने के लक्ष्य को ही सबसे महत्वपूर्ण माना गया है।

मिशन प्रेरणा के अंतर्गत प्रदेश के 75 जिलों के 1.1 लाख से अधिक विद्यालय, 3.5 लाख से अधिक शिक्षक और 1.2 करोड़ विद्यार्थियों को लाभ प्राप्त होगा। इसका फोकस बुनियादी शिक्षा होगा। यह एकीकृत ऑनलाइन निगरानी व्यवस्था होगी, जिसमें विद्यार्थियों के शैक्षिक स्तर के नियमित आकलन के लिए प्रेरणा तालिका बनायी जाएगी। इसके लक्ष्य स्पष्ट होंगे जिसमें शैक्षिक के साथ प्रशासनिक जवाबदेही शामिल होगी। मिशन के संचालन में जिलाधिकारियों की महत्वपूर्ण भूमिका होगी।

मार्च 2022 तक का लक्ष्य निर्धारित (Target Set By March 2022)



मिशन प्रेरणा के माध्यम से उत्तर प्रदेश के सभी 75 जिलों को अपनी शैक्षिक गुणवत्ता को बेहतर बनानें व उसमें सुधार करनें के लिए मार्च 2022 तक का समय निर्धारित किया गया है। इसके लिए प्रत्येक जिले में प्रेरक ब्लाक बनाने के लिए खंड शिक्षाधिकारियों को अपने ब्लाक का चयन कर समस्त शिक्षक, शिक्षामित्र व अनुदेशकों व सभी एआरपी को प्रेरित करने के लिए निर्देशित किया गया है। मिशन प्रेरणा के अंतर्गत अध्यापकों से लेकर अधिकारियों तक सभी को एक लक्ष्य निर्धारित कर आगे बढ़ना होगा। लक्ष्य के अनुरूप शिक्षकों को प्रगति सुनिश्चित करनी होगी।

ऑनलाइन शिक्षण व्यवस्था जारी (Online Education System Continues)

कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलनें से रोकने के लिए लॉकडाउन जारी है, जिसके कारण सभी विद्यालय बंद चल रहे हैं। ऐसे में बच्चों की शिक्षा प्रभावित न हो और उन्हें शैक्षिक सपोर्ट मिलता रहे इसलिए ऑनलाइन शिक्षण कार्य करने की व्यवस्था की गई है। बेसिक शिक्षा विभाग के सभी स्कूलों में शिक्षक-अभिभावक वाट्सएप ग्रुप के जरिए शैक्षिक सामग्री भेजने का कार्य शुरू कर दिया गया है, इसके साथ ही शिक्षकों द्वारा बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

Leave a Reply