उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना – ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करे

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना, Shramik Bharan Poshan Yojana UP, आइये जानते है कि उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना क्या है, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करे , UP Kisan Shrmik Bharn Poshan Yojana, Shrmik Poshan Yojana Online Registration

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना – ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस नें भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के लगभग सभी देशों में तबाही मचाई है| यदि हम इस वायरस से संक्रमित लोगो की संख्या कि बात करे, तो यह आकड़ा लाखों तह पहुँच गया है| हालाँकि पूरी दुनिया को दखते हुए भारत में यह आकड़ा काफी कम है| कोरोना वायरस के प्रकोप से लोगो को बचानें के लिए भारत सरकार नें पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन कर दिया गया है, इसके साथ ही यातायात के सभी साधनों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है |

up shrmik bhrn poshn yojana

भारत के प्रधानमंत्री ने 21 दिन के लॉकडाउन में लोगो को घर में रहने की सलाह दी है। ऐसे में सबसे अधिक समस्याओं का सामना उन लोगो को करना पड़ रहा है, जिनका जीवन दैनिक आमदनी पर निर्भर है । ऐसे लोगो को राहत देने के लिए के लिए उत्तर प्रदेश सरकार नें सराहनीय कदम उठाते हुए उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना की शुरुआत की है| उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना क्या है, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कैसे करे ? इसके बारें में आपको यहाँ विस्तार से जानकारी दे रहे है|

 

 उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना की जानकारी

योजना का नाम श्रमिक भरण पोषण योजना
योजना किसके द्वारा शुरू की गयी उत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थी दिहाड़ी मजदूर, रेहड़ी, ठेला, खोमचा, रिक्शा, ई-रिक्शा चालक और पल्लेदार
धनराशि 1000 रुपए प्रति मजदूर
लाभार्थियों की संख्या (लगभग) 15 लाख दिहाड़ी एवं 20 लाख अन्य मजदूर
योजना का उद्देश्य दैनिक मजदूरों की सहायता करना 

उत्तर प्रदेश श्रमिक भरण पोषण योजना क्या है  

देश के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब रेलवे, बस जैसी परिवहन सेवाओं पर पूरी तरह से प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। भारत में 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान दैनिक मजदूरी पर निर्भर रहनें वाले श्रमिको की दयनीय स्थिति को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ नें 24 मार्च को अपने 5 कालीदास मार्ग स्थित अपने सरकारी आवास से श्रमिक भरण-पोषण योजना की शुरुआत की। इस योजना के अंतर्गत राज्य के 20 लाख से अधिक दिहाड़ी मजदूरों को 1 हजार रु उनके अकाउंट में दिए जा रहे है, ताकि वह अपने और अपने परिवार का भरण- पोषण आसानी से कर सके| योजना की शुरुआत   करते हुए मुख्यमंत्री ने 4 दैनिक श्रमिकों को प्रतीकात्‍मक रूप से 1 हजार रु के चेक भी प्रदान किया ।

इस योजना के अंतर्गत ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में रहने वाले दिहाड़ी मज़दूरों और ठेला खोमचा लगाने वाले लोगों को सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता दी जा रही है| इसके अलावा जो लोग इससे वंचित रह जाएंगे और किसी भी योजना का लाभ नहीं ले रहे हैं, उन्हें भी 1 हजार रुपये की सहायता राशि उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए सभी जिलाधिकारियों को निर्देशित कर दिया गया है और सभी जनपदों को पर्याप्त धनराशि भेजी जा चुकी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अनुसार अंत्योदय राशन कार्ड धारक, निराश्रित वृद्धावस्था पेंशन पाने वाले, दिव्यांगजन पेंशन भोगी, निर्माण श्रमिक और प्रतिदिन मजदूरी करनें वाले श्रमिकों को सरकार नि:शुल्क राशन उपलब्ध करा रही है। इसके अंतर्गत 20 किलो गेंहू और 15 किलो चावल की व्यवस्था की गई है।

योजना के लिए पात्रता

  • इस योजना का लाभ प्राप्त करनें हेतु आवेदक का उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना अनिवार्य है।
  • योजना का लाभ सभी दिहाड़ी मजदूरो रेहड़ी, ठेला, रिक्शा, ई-रिक्शा चालक और पल्लेदारों एवं कन्स्ट्रकशन मजदूरों को मिलेगा|
  • अगर आपके पास श्रम विभाग, नगर विकास या ग्राम सभाओं के तहत पंजीकृत नहीं है तो आपको भी इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा अर्थात इस योजना का लाभ उन्ही मज़दूरो को मिलेगा जिन्होने श्रमिक विभाग में पंजीकृत है।

यूपी भरण पोषण भत्ता योजना मे ऑनलाइन आवेदन हेतु

यूपी भरण पोषण भत्ता योजना का लाभ सिर्फ पंजीकृत श्रमिको को प्राप्त होगा । ऐसे मे जो लोग श्रम विभाग मे पंजीकृत नहीं है। ऐसे लोगो से उत्तर प्रदेश शासन  द्वारा 21 मार्च 2020 को समस्त जिलाधिकारी, नगर आयुक्त, नगर निगम, नगर पालिका एवं नगर पंचायत को पत्र जारी करते हुए उत्तर प्रदेश के नगरीय निकाय क्षेत्रो मे दैनिक रूप से कार्य कर जीवन यापन करने वाले व्यक्तियों के विषय मे सूचना उपलब्ध करवाने को कहा है। जिससे सभी को सहायता दी जा सके। सरकार जल्दी ही सभी मजदूरों के पंजीकृत बैंक खाते में योजना की राशि ट्रान्सफर कर दी जाएगी।

इस योजना के लिए अलग से कोई आवेदन नहीं हो रहा है। अतः आप अपने स्थानीय निकाय/ नगर निगम/ पार्षद आदि के द्वारा स्वयं को पंजीकृत करवाएँ और योजना का लाभ प्राप्त करे|  

Leave a Reply